चीन ने कोरोना वायरस की उत्पत्ति की फिर से जांच करने के WHO के प्रस्ताव को ठुकराया

0
2


बीजिंग: चीन ने गुरुवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के दूसरे चरण के अध्ययन की योजना को खारिज कर दिया, जिसमें कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाया जाएगा। डब्ल्यूएचओ के प्रस्ताव पर चीन ने हैरानी जताई है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) के उपाध्यक्ष ज़ेंग यिशिन ने गुरुवार को कहा कि चीन वायरस की उत्पत्ति के अध्ययन के राजनीतिकरण का विरोध करता है।

डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस एडनॉम के बयान के बाद चीन की तीखी प्रतिक्रिया आई है। उन्होंने पिछले हफ्ते कहा था कि कोविड -19 महामारी और एक प्रयोगशाला रिसाव के बीच एक संभावित लिंक को खारिज करना जल्दबाजी होगी। डब्ल्यूएचओ ने कोरोनवायरस की उत्पत्ति की जांच के लिए चीन को दूसरे चरण के अध्ययन का प्रस्ताव दिया था, जिसमें वुहान लैब और बाजार का ऑडिट भी शामिल था। साथ ही चीन से वैज्ञानिकों की जांच में और पारदर्शिता की मांग की गई।

चीन ने प्रस्ताव को वैज्ञानिक तथ्यों का अनादर बताया
गेंग ने कहा कि चीन डब्ल्यूएचओ की योजना के वर्तमान संस्करण को स्वीकार नहीं कर सकता क्योंकि इसमें राजनीतिक रूप से हेरफेर किया गया है और यह वैज्ञानिक तथ्यों की अवहेलना करता है। चीनी राज्य मीडिया ने ज़ेंग के हवाले से कहा कि प्रस्तावित अध्ययन के दूसरे चरण में इस परिकल्पना को सूचीबद्ध किया गया है कि चीन ने प्रयोगशाला नियमों का उल्लंघन किया है और वायरस को एक शोध वस्तु के रूप में लीक किया है। उन्होंने कहा कि प्रस्ताव पढ़कर उन्हें बहुत आश्चर्य हुआ।

ज़ेंग ने कहा कि “डब्ल्यूएचओ को चीनी वैज्ञानिकों की सलाह पर ध्यान से विचार करना चाहिए। राजनीतिक हस्तक्षेप से मुक्त एक वैज्ञानिक प्रश्न के रूप में कोविद -19 वायरस की उत्पत्ति की जांच की जानी चाहिए और विभिन्न देशों में वायरस की उत्पत्ति की निरंतर और उचित जांच होनी चाहिए। देश।

चीन लैब से वायरस की उत्पत्ति से इनकार करता रहा है
चीन अंतरराष्ट्रीय राय का कड़ा विरोध करता रहा है कि वुहान में एक उच्च सुरक्षा वाली बायो लैब को वायरस का स्रोत कहा जाता है। चीन इससे इनकार करता रहा है। 2019 के अंत में चीनी शहर वुहान में कोरोनावायरस के पहले मामलों की पहचान की गई थी। महामारी के कारण लाखों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और करोड़ों लोग संक्रमित हुए हैं। महामारी के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था ठप हो गई है।

यह भी पढ़ें-
मेक्सिको: पेगासस ‘स्पाइवेयर’ खरीदने के लिए पूर्व प्रशासन ने सरकारी फंड से 30 करोड़ डॉलर खर्च किए

चीन बाढ़: चीन में बाढ़ से 12 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित, 25 की मौत, बचाव के लिए दौड़ी सेना

.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here