गोल्ड जीतकर धमाका कर सकते हैं 18 साल के दिव्यांश पंवार, जानिए उन्हें मेडल की उम्मीद क्यों

0
4


टोक्यो ओलंपिक 2020: जापान की राजधानी टोक्यो में 23 जुलाई से ओलंपिक खेलों की शुरुआत होने जा रही है। भारत से ओलंपिक खेलों के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा दल भाग ले रहा है। भारत से निशानेबाजी में अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है। 18 साल के दिव्यांश पंवार टोक्यो ओलंपिक में न सिर्फ भारत के सबसे कम उम्र के खिलाड़ी हैं, बल्कि वह स्वर्ण के दावेदारों में से एक हैं।

दिव्यांश पंवार से भारत को काफी उम्मीदें हैं। दिव्यांश पंवार ओलंपिक में इतिहास रचने टोक्यो पहुंच गए हैं। जयपुर में जन्मे दिव्यांश 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में हिस्सा लेंगे। इसके अलावा दिव्यांश पंवार और इलावेनिल वालारिवन 10 मीटर एयर राइफल मिक्स्ड डबल्स में पदक जीतने का लक्ष्य रखेंगे।

10 मीटर एयर राइफल इवेंट भारत के लिए बेहद खास है। 10 मीटर एयर राइफल वही इवेंट है जिसमें अभिनव बिंद्रा ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में स्वर्ण जीतकर इतिहास रचा था। अब दिव्यांश इस 10 मीटर एयर राइफल में इतिहास रच रहे हैं।

कम उम्र में है दिव्यांश की उपलब्धियां

दिव्यांश की विश्व रैंकिंग दूसरे स्थान पर है। दिव्यांश ने वर्ल्ड शूटिंग चैंपियनशिप में 4 गोल्ड जीते। 1 रजत और 1 कांस्य जीता। इनमें से एकल में 1 स्वर्ण और 1 रजत हासिल किया है जबकि मिश्रित युगल में 3 स्वर्ण और एक कांस्य हासिल किया है।

मिश्रित युगल में उनकी और एलावेनिल वलारिवन की जोड़ी से दुनिया भर के निशानेबाज डरते हैं। यह जोड़ी साथ में ओलंपिक खेलों में भी हिस्सा ले रही है और इस जोड़ी को गोल्ड के दावेदारों में से एक माना जा रहा है।

दिव्यांश 127 खिलाड़ियों की भारतीय टीम में सबसे कम उम्र के खिलाड़ी हैं। लेकिन दिव्यांश से टोक्यो ओलंपिक में भारत को बड़ा धमाका करने की उम्मीद है। दिव्यांश खुद भी कह चुके हैं कि वह दुनिया के सबसे बड़े मंच पर भारत के लिए सोने से कम कुछ नहीं पाना चाहते हैं।

शतक जड़कर इंग्लैंड टीम में वापसी का जश्न मनाया हसीब हमीद, भारत के खिलाफ ही बने हीरो

.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here